कौन मौन है ? — The Horizon

बातों में कड़वाहट बढ़ रही व्यक्ति क्यों व्यक्तिगत हो रहा ? मुद्दा मुद्दाहीन, तर्क तर्कहीन बात बिना बात बढ़ रही कुतर्क प्रधान क्यों देश बन रहा ? आधुनिक हो गया पर मतलब कहाँ ? कामयाब हो गया पर संतुष्ट कहाँ ? कम में ज्यादा की चाह ने परिश्रम छीना नींद कहाँ, चैन कहाँ अब सुकून […]

कौन मौन है ? — The Horizon

Leave a Reply

%d bloggers like this: